होम Strategy Politics देश में अलकायदा की धमकी के जिम्मेदार बीजेपी है - शिवसेना

देश में अलकायदा की धमकी के जिम्मेदार बीजेपी है – शिवसेना

देश में अलकायदा की धमकी के जिम्मेदार बीजेपी है – शिवसेना

शिवसेना ने अपने मुख्यपत्र सामना के जरिए बीजेपी पर हमला बोल दिया है और साफ लफ़्ज़ों में बीजेपी को जिमेदार मानना है की उनकी वजह से आज देश मे खतरा मंडरा रहा है अलकायदा जैसी आतंकी संघटनो का। उनकी पार्टी कि एक प्रवक्ता का बयान जो देश मे तनाव पैदा कर दिया है , इस पूरे मामले में किस तरह से शिवसेना ने अपनी भूमिका रखी है यह जानिए।

संपादकीय जरिये कहा गया कि अलकायदा की धमकी और बिल में छिपे अंधभक्त!

अलकायदा ने महाराष्ट्र सहित देशभर में आतंकवादी हमले करने की धमकी दी है। भारतीय जनता पार्टी ने मोहम्मद पैगंबर को लेकर जो आपत्तिजनक बयान दिया उसकी वजह से ‘अलकायदा’ जैसे संगठन सीधे धमकी देने लगे हैं। देश के कई शहरों में आत्मघाती बम धमाकों को अंजाम दिया जाएगा, ऐसी चेतावनी ‘अलकायदा’ दे रहा है। ‘अलकायदा’ की धमकी भारतीय जनता पार्टी द्वारा खुद बुलाई गई बला है। सोए हुए शैतान को जगाने का काम भाजपा ने किया है और कल मुंबई-महाराष्ट्र में ‘अलकायदा’ ने कुछ विध्वंसक कृत्य किया तो उसमें बेगुनाह लोगों का खून बहेगा ही और उसके लिए पूरी तरह से भारतीय जनता पार्टी जिम्मेदार होगी। मोहम्मद पैगंबर के संबंध में जिस प्रकार का बयान भाजपा की ओर से दिया गया है उसका समर्थन कोई भी न करे। दूसरे धर्म प्रमुखों द्वारा इस तरह का अपमान हिंदुत्व के लिए स्वीकार नहीं है। परंतु भाजपा को ऐसा लगता है कि वे मतलब देश और वे मतलब ही हिंदुत्व है। आज पैगंबर के अपमान के प्रकरण की वजह से हिंदुस्थान पर माफी मांगने की अपमानास्पद नौबत तो आई ही है, परंतु ‘अलकायदा’ जैसे संगठन ने आतंकवादी हमले की धमकी भी दी है। इस धमकी को गंभीरता से लेने की आवश्यकता है। मोहम्मद पैगंबर के एक व्यंग्यचित्र के कारण प्रâांस में आतंकवादी हमला हुआ और उस पर प्रतिक्रिया मुंबई सहित देशभर में देखने को मिली। एक तरफ कश्मीर जल रहा है। वहां आतंकियों द्वारा हिंदुओं का खून बहाया जा रहा है, तो दूसरी तरफ ‘अलकायदा’ ने आतंकी हमले करने की धमकी दी है। इस धमकी के बाद हमारी लाडली मोदी सरकार को एहतियातन योजना के रूप में क्या करना चाहिए? जिस सड़े हुए दिमाग की महिला प्रवक्ता ने मोहम्मद पैगंबर का अपमान किया है उस महिला की सुरक्षा व्यवस्था बढ़ा दी। खतरा देश को है भाजपा को नहीं, यह उन्हें कौन बताए? जहर उगलनेवाली महिला प्रवक्ता को ‘जेड’ सुरक्षा उपलब्ध कराने से ‘अलकायदा’ के हमले रोक लिए जाएंगे क्या? उस पर उस महिला प्रवक्ता के भयंकर बयान का खुला समर्थन अभिनेत्री कंगना रनौत ने किया है। भाजपा ने कितने सड़े हुए प्याजों को बगल में दबा रखा है। यही इससे एक बार फिर देखने को मिला। कल देश में आतंकवादी हमलों की शृंखला शुरू हो ही गई तो जनता की सुरक्षा के लिए आपने क्या योजना बनाई है? मोदी-शाह आदि प्रमुख नेताओं की सुरक्षा का कवच अभेद्य है। उनके बाल को भी नुकसान नहीं पहुंचेगा। उनके बाल-बच्चे भी उसी सुरक्षा के पिंजरे में खुशहाल रहेंगे, परंतु कल ‘अलकायदा’ जैसों ने सार्वजनिक जगहों पर हमला कर ही दिया तो आम जनता के जीवन की सुरक्षा का क्या भरोसा? हवाई अड्डे, रेलवे स्टेशन, मेट्रो स्टेशन, भीड़ भरे बाजार आतंकियों का निशाना बनते हैं, ऐसा आज तक का अनुभव रहा है। हमारे पैगंबरों का अपमान करनेवालों को उड़ाने के लिए हमारे शरीर पर विस्फोटक बांधेंगे। इस गलती के लिए कोई माफी नहीं, कोई भी सुरक्षा व्यवस्था उन्हें बचा नहीं सकेगी’, ऐसी धमकी ‘अलकायदा’ ने दी है। मतलब आम जनता के सिर पर खतरे की तलवार लटकने लगी है। भाजपा के कारण देश की दुनिया भर में फजीहत हुई है। परंतु देश की जनता के जीवन से खिलवाड़ शुरू हो गया है। पहले ही वह महंगाई, बेरोजगारी से मर रही है, उस पर अब आत्मघाती हमलों का डर। सरकार क्या कर रही है? सरकार सिर्फ अपने समूह के लोगों को सुरक्षा उपलब्ध करा रही है। पैगंबर के अपमान के संदर्भ में देश के प्रधानमंत्री व गृहमंत्री कोई भी खुलासा करने को तैयार नहीं हैं। भाजपा की फालतू प्रवक्ता के कारण देश पर अपमानित होने की नौबत आई यह सवाल हिंदू-मुसलमानों का नहीं, बल्कि हिंदू सहिष्णुता का है। कम-से-कम इस सवाल पर संघ प्रमुख मोहन भागवत को तो. स्पष्ट भूमिका अपनानी चाहिए, परंतु बेवजह बोलनेवाले शांत बैठ गए हैं। बाबरी प्रकरण के बाद मुंबई में बम विस्फोट करके खून-खराबा किया गया। उन जख्मों के निशान आज भी मौजूद हैं। अब यह नया प्रकरण आ गया है। इस आग को शांत करने की जिम्मेदारी केंद्र सरकार की है। पंजाब में खालिस्तान की घोषणा व झंडे लहराने का धंधा शुरू हो गया है। कश्मीर में तो दावानल ही भड़का है। इन दोनों तनावों पर सरकार समाधान नहीं ढूंढ़ पा रही है। केंद्र सरकार और उनके सूत्रधार पूरे समय सत्ता में मग्न व चुनाव में मग्न रहते हैं। चुनाव जीतने के अलावा उन्हें और कुछ सूझता नहीं है। कल ‘अलकायदा’ ने अपनी धमकी को दुर्भाग्य से सच कर दिखाया ही तो वहां राजनीति करेंगे और उस बम विस्फोटों को हिंदू-मुसलमान का रंग देकर चुनाव में वोट मांगेंगे। राजनीति ऐसे निचले स्तर तक पहुंच गई है। भाजपा का हिंदुत्व अन्य धर्मों से द्वेष पर आधारित है। भाजपा का हिंदुत्व विभाजन को निमंत्रण देनेवाला और धार्मिक तनाव से राजनीतिक स्वार्थ साधनेवाला है। भाजपा का हिंदुत्व लोगों को अंधभक्त बनाकर दूसरे धर्म से द्वेष करने को प्रेरित करनेवाला है। इस जहर से देश का दम घुट जाए तब भी उन्हें परवाह नहीं है। मोहम्मद पैगंबर के अपमान प्रकरण में भाजपा को वांछित धार्मिक द्वेष और उन्माद दोनों निर्माण हुआ है। उस उन्माद पर उत्सव मनाने के लिए अंधभक्त हैं ही, परंतु अलकायदा की धमकी देश पर पलट गई तो अंधभक्त बिलों में ही छिप जाएंगे लेकिन हिंदू नाहक बलि चढ़ जाएंगे।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Must Read

राहुल गांधी आज करेंगें गुजरात मे चुनावी प्रचार

राहुल गांधी आज करेंगे गुजरात मे प्रचार कांग्रेस नेता राहुल गांधी आज से गुजरता में होने वाले विधानसभा चुनाव...

शिवसेना ने सामना के जरिये बीजेपी और शिंदे सरकार से किया सवाल शिवराय को लेकर ब्यान देने वालो पर क्या है उनकी भूमिका

शिवसेना ने अपने मुख्यपत्र सामना के जरिए बीजेपी - शिंदे सरकार पर निशाना साधते हुए कई सवाल उठाया और इस पर जोर...

नाबालिग बेटी को फांसी लगाकर पिता ने कि हत्या , मोबाइल फ़ोन से मिली तस्वीर ने खोला राज

नाबालिग बेटी की फांसी लगाकर पिता ने की हत्या वारदात के बाद रची आत्महत्या की कहानीदूसरी पत्नी को फसाने...

सामना ने संपादकीय के जरिये इतिहास को तोड़मरोड़ के पेश करने वालो के खिलाफ जताई नाराजगी

सामना के संपादकीय के जरिए शिवसेना ने एक बार फिर निशाना साधा है जो इतिहास बको तोड़मरोड़ के पेश करते है ।...

जितेंद्र आव्हाड के खिलाफ एक और गंभीर मामला दर्ज

राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के विधायक और महाराष्ट्र सरकार में मंत्री रह चुके जितेंद्र अव्हाड की मुश्किलें कम होने का नाम नहीं ले...