होम Strategy Politics उद्धव ठाकरे को विधायक बनाने के लिए फिर से किया मंत्रिमंडल ने...

उद्धव ठाकरे को विधायक बनाने के लिए फिर से किया मंत्रिमंडल ने सिफारिश

उद्धव ठाकरे को विधायक बनाने के लिए फिर से किया मंत्रिमंडल ने सिफारिश

मुंबई – संवादाता

सी.एम. उद्धव ठाकरे को विधानपरिषद की खाली एक सीट पर एम.एल.सी. मनोनीत करने की महाराष्ट्र मँत्रिमँडल ने सोमवार को राज्यपाल से दोबारा सिफारिश किया है।
मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे अभी किसी भी सदन के सदस्य नहीं हैँँ।
महाराष्ट्र कैबिनेट ने कोऱोना सँक्रमण से पैदा हुई मौजूदा स्थिति का हवाला देते हुए ठाकरे को एम.एल.सी. मनोनीत करने की राज्यपाल से दोबारा सिफारिश भेजी है।
उद्वव ठाकरे ने 28 नवंबर 2019 को एन.सी.पी.और काँग्रेस से हाथ मिलाकर सूबे में महाविकास अघाड़ी की सरकार बनाई थी।
इस लिहाज से मुख्यमंत्री कुर्सी पर बने रहने के लिए उद्धव ठाकरे को 28 मई तक प्रदेश के किसी भी सदन की सदस्यता हासिल करनी होगी।
भारतीय संविधान के अनुच्छेद 164(4) के तहत किसी भी सदन से जुड़े ना होने के बावजूद भी कोई भी शख्स 6 महीने तक मंत्रिमंडल में मँत्री या मुख्यमंत्री पद पर बने रह सकता है। और अब इन बदले राजनीति माहौल में
सी.एम. उद्धव ठाकरे को 28 मई तक किसी भी एक सदन का सदस्य बनने की सँवैधानिक बाध्यता है।
अन्यथा उन्हें मुख्यमंत्री कुर्सी छोडनी पडेगी। दरअसल महाराष्ट्र में बीते 26 मार्च को प्रदेश मेँ 9 विधान परिषद सीटों पर चुनाव होना था लेकिन सूबे में कोऱोना सँक्रमण के बढते खतरे की वजह से चुनाव अनिश्चितकाल के लिए टाल दिया गया था।
उद्धव ठाकरे की मँत्रिमँडल ने पिछली 9 अप्रैल को भी महाराष्ट्र के गवर्नर को सी.एम. उद्धव ठाकरे को एम.एल.सी मनोनीत करने की सिफारिशी चिठ्ठी राजभवन को भेजी थी।
भारतीय संविधान के अनुच्छेद 171 के तहत राज्यपाल को कुछ निश्चित संख्या में विधान परिषद में सदस्यों को मनोनीत करने का सँवैधानिक अधिकार हासिल है।
मनोनीत एम.एल.सी. कला, साहित्य, विज्ञान, समाज सेवा बैकग्राउण्ड वाले व्यक्ति होना जरूरी हैँ तब जाकर अपने विवेक से राज्यपाल सदस्यों को मनोनीत करते हैं।
एन.सी.पी.के विधायकों के इस्तीफे की वजह से दो सीटें खाली हुई थीँ जो पिछले साल के विधानसभा चुनावों से ऐन पहले बीजेपी में शामिल हो गए थे। सी.एम.ठाकरे को विधान परिषद का सदस्य मनोनीत करने को लेकर महाराष्ट्र के गवर्नर भगत सिंह कोश्यारी ने अबतक कोई फैसला नहीं लिया है।
और राजभवन की चुप्पी को लेकर मुख्यमंत्री ठाकरे अगुवाई वाले गठबंधन महा विकास आघाडी की चिँता बढ गई है।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Must Read

महाराष्ट्र में पिछले 24 घंटे में कम से कम 370 पुलिसकर्मी कोरोना वायरस से संक्रमित

महाराष्ट्र में पिछले 24 घंटे में कम से कम 370 पुलिसकर्मी कोरोना वायरस से संक्रमित हो गए। संक्रमितों में 60 अधिकारी...

मुंबई से नजदीक टूरिस्ट पॉइंट के होटल और बंगला मालिको को भेजी गई नोटिस

मुम्बई से सटे सबसे बड़े टूरिस्ट पॉइंट खंडाला-लोनावाला में स्थानीय जिला प्रशासन ने सभी होटल,बंगलो मालिको को जारी किया नोटिस-नए साल की...

31 दिसम्बर और 1 जनवरी के न्यू ईयर के लिए राज्य सरकार ने जारी किए दिशानिर्देश

31 दिसम्बर और 1 जनवरी के न्यू ईयर के लिए राज्य सरकार ने जारी किए दिशानिर्देश… 31st दिसम्बर और...

मुंबई में आज कोरोना के 2 हजार से ज्यादा मामला सामने आया

29 दिसंबर - महाराष्ट्र में कोरोना की वर्तमान स्थिति महाराष्ट्र में एक दिन में...

एच पी सी एल रिफायनरी के नजदीकी इलाके के लोगो का हेल्थ चेकअप करें – राहुल शेवाले

एच पी सी एल रिफायनरी के नजदीकी इलाके के लोगो का हेल्थ चेक अप करें पावडर लीकेज दुर्घटना के...