होम News बाढ़ प्रभावित क्षेत्र के नागरिकों का बीमारी निहाय सर्वेक्षण

बाढ़ प्रभावित क्षेत्र के नागरिकों का बीमारी निहाय सर्वेक्षण

बाढ़ प्रभावित क्षेत्र के नागरिकों का बीमारी निहाय सर्वेक्षण

ब्लडप्रेशर, डायबिटीज पर जीवरक्षक औषधियों का निशुल्क वितरण

मुंबई – संवादाता

बाढ़ प्रभावित क्षेत्र के मदद कैम्प में ब्लडप्रेशर, डायबिटीज के मरीजों को जीवरक्षक औषधि स्वास्थ्य विभाग की ओर से निशुल्क दी जा रही है. कैम्प में जाहिर आवाहन कर जिनको इस बीमारियों की टैबलेट्स शुरु है उन्हें वितरण किया जा रहा है. मदद कैम्प में जांच किए मरीजों का बुखार, डायरिया और पीलिया आदि का बीमारी निहाय सर्वेक्षण किया जा रहा है. इस दौरान राज्य में फिलहाल 570 वैद्यकीय मदद दल है जिसमें से कोल्हापुर में 196 तथा सांगली में 144 दल कार्यरत है.

मदद कैम्पों में वास्तव्य कर रहे नागरिकों की वैद्यकीय जांच के वहा बीमारी निहाय जानकारी ली जा रही है. रोज शाम को इस डेटा को एकत्रित संकलित करने के निर्देश दिए है, ऐसी जानकारी स्वास्थ्य मंत्री एकनाथ शिंदे ने दी.

जिन्हें ब्लडप्रेशर, डायबिटीज आदि संबंधित औषधोपचार शुरू था उन्हें रोजाना टैब्लेट्स लेने के लिए और उनके स्वास्थ्य पर परिणाम न हो इसके लिए मदद कैम्पों में रहनेवाले नागरिकों को डायबिटीज, ब्लडप्रेशर की टैब्लेट्स के बारे में स्वास्थ्य कर्मियों द्वारा पूछताछ की जा रही है. उन्हें सात दिन तक कि टैब्लेट्स का निशुल्क वितरण किया जा रहा है. सरकारी अस्पतालों में यह टैब्लेट्स उपलब्ध न हो तो निजी दुकानों से खरीदकर उसका वितरण करने के निर्देश दिए गए है, ऐसी जानकारी स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव डॉ. प्रदीप व्यास ने दी.

कुछ क्षेत्रों में मदद कैम्पों से नागरिक घर की ओर लौट रहे है. उन्हें जल शुद्धिकरण के लिए क्लोरीन की टैब्लेट्स का उपयोग करने के संदर्भ में जानकारी दी जा रही है. गर्भवती महिलाओं को पानी उबालकर पीने की सूचनाएं दी जा रही है, ऐसा भी डॉ. व्यास ने बताया.

स्वाथ्य अभियान से औषधि, पावडर खरीदी को अनुमति

राष्ट्रीय स्वास्थ्य अभियान के अंतर्गत प्रत्येक ग्रामपंचायत को दस हजार रूपये स्वास्थ्य पर खर्च करने के लि दिए जा रहे है. बाढ़ प्रभावित क्षेत्र की ग्रामपंचायत में इन दस हजार रुपयों में से अब छिड़काव के लिए औषधि, कीटाणु नाशक पावडर खरीदी करने तथा धुंआ छिड़काव यंत्रों की दुरुस्ती के लिए इस निधि से खर्च करने की अनुमति दी गई है, ऐसा डॉ. व्यास ने बताया.

सप्ताहभर से स्वाथ्य मंत्री बाढ़ प्रभावित क्षेत्र में

इस दौरान सप्ताह भर से स्वाथ्य मंत्री इस क्षेत्र में डटे हुए है. बाढ़ प्रभावितों को मदद वितरण में उनका सक्रिय सहभाग है. वैद्यकीय दल और औषधोपचार का समन्वय उनके द्वारा किया जा रहा है. सांगली, कोल्हापुर क्षेत्र में मदद कैम्पों में जाकर स्वाथ्य मंत्री नागरिकों को राहत दिला रहे है. नागरिकों को मदद करने के साथ साथ वे स्वास्थ्य सुविधाएं भी उपलब्ध करवा रहे है. मुंबई से गए कुल 100 डॉक्टरों के दल के मार्फत नागरिकों की जांच की जा रही है. सांसद डॉ. श्रीकांत शिंदे के माध्यम से निजी डॉक्टरों का समन्वयन किया जा रहा है. बाढ़ की स्थिति में नागरिकों को सुरक्षित स्थानों पर ले जाने के लिए दिनरात मेहनत करनेवाले एन.डी.आर.एफ. तथा भारतीय सेना के जवानों से भी स्वाथ्य मंत्री ने मिलकर चर्चा की. इस समय वैद्यकीय स्वास्थ्य शिविरों में सेना के जवानों की जांच की गई.

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Must Read

खाजगी हॉस्पिटलला कॉग्रेसची चेतावणी, तीन युवकांना भीतीपोटी जीव गमवावा लागल्याने संताप

खाजगी हॉस्पिटलला कॉग्रेसची चेतावणी, तीन युवकांना भीतीपोटी जीव गमवावा लागल्याने संताप कॉग्रेस शहर उपाध्यक्ष यांनी खाजगी हॉस्पिटलला कुलुप ठोकण्याची...

महाराष्ट्र में कुछ शर्तों के साथ 30 जून तक लोकडाउन – क्या खुलेगा क्या बंद रहेगा देखे यह रिपोर्ट

महाराष्ट्र में कुछ शर्तों के साथ 30 जून तक लोकडाउन - क्या खुलेगा क्या बंद रहेगा देखे यह रिपोर्ट

सोसल मीडिया पर गलत पोस्ट करनेवालो की अब खैर नही

संवादता - तृप्ति निंबुलकर महाराष्ट्र के गृहमंत्री अनिल देशमुख ने लॉक डाउन के कारण बढ़े सायबर क्राइम को लेकर...

उद्धव ठाकरे ने विधान परिषद की सदयस्ता की शपत ली।

उद्धव ठाकरे ने विधान परिषद की सदयस्ता की शपत ली। मुंबई - संवादता शिवसेना पार्टी प्रमुख...

वाऱ्यावर परप्रांतीय…….आमच्या मुख्यमंत्र्यांनी आम्हाला वाऱ्यावर सोडलंय…. परप्रांतीयांचा टाहो …. यूपी- बिहारींनी काढला आपल्या मुख्यमंत्र्यांवर राग, निवडणुकीत त्यांना ताकद दाखवू

वाऱ्यावर परप्रांतीय…….आमच्या मुख्यमंत्र्यांनी आम्हाला वाऱ्यावर सोडलंय…. परप्रांतीयांचा टाहो …. यूपी- बिहारींनी काढला आपल्या मुख्यमंत्र्यांवर राग, निवडणुकीत त्यांना ताकद दाखवू