होम Strategy Politics मीरा-भायंदर के फेरीवालों का गीता जैन को खुला समर्थन...

मीरा-भायंदर के फेरीवालों का गीता जैन को खुला समर्थन…

मीरा-भायंदर के फेरीवालों का गीता जैन को खुला समर्थन…

मुंबई- फिरोज खान

मीरा-भायंदर : मीरा-भायंदर में टिकट हासिल करने को लेकर बीजेपी के दो कद्दावर नेता नरेंद्र मेहता और गीता जैन के बीच तनातनी चल रही है।नरेंद्र मेहता मौजूदा यहां से विधायक हैं।मेहता भले ही अपने द्वारा किए गए कामों की अपने ही मुंह से सराहना कर रहे हो,लेकिन यहां के हजारों फेरीवाले मेहता से सख्त नाराज नजर आ रहे हैं।वजह इन सभी की रोजी-रोटी छीन जाना है।यहां के फेरीवालों का कहना है नरेंद्र मेहता ने स्टेशन के आस-पास ठेले लगाने पर सख्ती कर रखी है,नतीजतन उनके खाने के लाले पड़ गए हैं।ऐसी तंगहाली से तंग आकर फेरीवालों ने गीता जैन को अपना खुला समर्थन देने की घोषणा की है।

मेहता से नाराज फेरीवालों का कहना है कि अगर पार्टी गीता जैन को टिकट देती है तो वे खुलकर गीता जैन का समर्थन करेंगे।सेवन इलेवन को लेकर नरेंद्र मेहता के खिलाफ एफआईआर दर्ज होना,शिवसेना से मतभेद होना और हजारों की संख्या में फेरीवालों की नाराजगी, कहीं ना कहीं मेहता को मुश्किलें पैदा कर सकता है।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Must Read

राहुल गांधी आज करेंगें गुजरात मे चुनावी प्रचार

राहुल गांधी आज करेंगे गुजरात मे प्रचार कांग्रेस नेता राहुल गांधी आज से गुजरता में होने वाले विधानसभा चुनाव...

शिवसेना ने सामना के जरिये बीजेपी और शिंदे सरकार से किया सवाल शिवराय को लेकर ब्यान देने वालो पर क्या है उनकी भूमिका

शिवसेना ने अपने मुख्यपत्र सामना के जरिए बीजेपी - शिंदे सरकार पर निशाना साधते हुए कई सवाल उठाया और इस पर जोर...

नाबालिग बेटी को फांसी लगाकर पिता ने कि हत्या , मोबाइल फ़ोन से मिली तस्वीर ने खोला राज

नाबालिग बेटी की फांसी लगाकर पिता ने की हत्या वारदात के बाद रची आत्महत्या की कहानीदूसरी पत्नी को फसाने...

सामना ने संपादकीय के जरिये इतिहास को तोड़मरोड़ के पेश करने वालो के खिलाफ जताई नाराजगी

सामना के संपादकीय के जरिए शिवसेना ने एक बार फिर निशाना साधा है जो इतिहास बको तोड़मरोड़ के पेश करते है ।...

जितेंद्र आव्हाड के खिलाफ एक और गंभीर मामला दर्ज

राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के विधायक और महाराष्ट्र सरकार में मंत्री रह चुके जितेंद्र अव्हाड की मुश्किलें कम होने का नाम नहीं ले...