होम News स्कूल फीस को लेकर पेरेंट्स और विद्यार्थियों पर सख्ती नही करे -...

स्कूल फीस को लेकर पेरेंट्स और विद्यार्थियों पर सख्ती नही करे – वर्षा गायकवाड़(शिक्षा मंत्री )

स्कूल फीस को लेकर पेरेंट्स और विद्यार्थियों पर सख्ती नही करे – वर्षा गायकवाड़(शिक्षा मंत्री )

मुंबई – तृप्ति निंबुलकर

महाराष्ट्र के शिक्षा विभाग ने सभी स्कूलों को आदेश दिया है कि कोरोना को देखते हुए विद्यार्थी और उनके पेरेंट्स को फीस के लिए ज्यादा जोर नही डाले। कोरोना के बढ़ते प्रभाव की वजह से लोगो को कई दिक्कतों से गुजरना पड़ रहा है साथ ही आर्थिक स्तिति पर भी इसका असर हुआ है ऐसे में पिछले साल और आने वाले साल में फीस को लेकर ज्यादा जोर नही करे पेरेंट्स से , पूरी तरह से स्तिति सामान्य होने के बाद अगले आदेश के अनुसार फीस को लेकर सभी पेरेंट्स को जानकारी दे इसे लेकर सभी शिक्षा विभाग के अधिकरियो को जानकारी दी गई है इसके बावजूद अगर कोई इस आदेह को नही मानता है तो उसकक शिकायत जिला अधिकारी से करे उस पर कारवाई की जाएगी।

1 टिप्पणी

  1. Dear mam,

    Please reduce the cost of fees this year by 50%, we all are suffering badly… our humble request is there.. please bear with us for fees issue…

    Thank you
    Tarannum Kundan Mule.

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Must Read

देवेंद्र फड़णवीस का बंगला वाशिंग मशीन का काम कर रही है – बाला साहेब थोरात

कांग्रेस नेता बाला साहेब थोरात ने रश्मि शुक्ला और मोहित कंबोज की देवेंद्र फडणवीस से मुलाकात पर कहा की देवेंद्र फडणवीस का...

दही हंडी को लेकर सरकार अपनी योजना बताए – सुनील प्रभु

शिवसेना विधायक सुनील प्रभु ने शिंदे सरकार को घेरने का प्रयास किया उंन्होने दही हंडी के आयोजन को लेकर सरकार की घोषणा...

पूरी दुनिया बीजेपी जितना चाहती है – नाना पटोले

कांग्रेस नेता और महाराष्ट्र प्रदेश अध्यक्ष नाना पटोले ने विधानसभा मानसून सत्र के दूसरे दिन बीजेपी पर निशाना साधते हुए कई एहम...

खड्ढे के कारण नेशनल पार्क ब्रिज पर एक्सीडेंट 2 की मौत

खड्ढे के कारण नेशनल पार्क ब्रिज पर एक्सीडेंट 2 की मौत वेस्टर्न एक्सप्रेस हाइवे नेशनल पार्क ब्रिज पर खड्ढे...

बचा पोश एक जटिल प्रथा जो सैकड़ो सालों से अफगानिस्तान में चली आ रही है

बचा पोश यह शब्द सुनकर आप को लग रहा होगा की यह क्या है ?बचापोश एक ऐसे जटिल प्रथा है जो सेकड़ो...