होम City News बरसठी ब्लाक: गोहका गांव को पहली बार मिला युवा प्रधान 

बरसठी ब्लाक: गोहका गांव को पहली बार मिला युवा प्रधान 

बरसठी ब्लाक: गोहका गांव को पहली बार मिला युवा प्रधान 

जौनपुर: बरसठी ब्लाग के अंतर्गत आने वाले गांव को काफी साल बाद एक युवा और पढ़ा लिखा प्रधान मिला है. ग्राम प्रधान के इस चुनाव में यह सीट अनुसूचित जाती (SC) घोषित हुई थी. जिसमें बीए और बीएड करने वाले सूबेदार पुत्र गुलुक्की समेत कई उम्मीदवार चुनाव मैदान में उतरे. सभी ने जीत को लेकर दिन रात मेहनत की. लेकिन लोगों ने युवा और पढ़ा लिखा उम्मीदवार सूबेदार को चुनाव जीताना ठीक समझा और लोगों ने सूबेदार को चुनाव जिताया.

          सूबेदार के जीत पर गांव के लोगों में गोहका इंटर कॉलेज के प्रबंधक मुकेश तिवारी ने कहा कि यदि लोगों ने सूबेदार को चुनाव जिताया है तो उनकी जिम्मेदारी बनती है कि वे गांव का विकास करें. इसके लिए वे गांव के लोगों की समस्या सुनने के लिए बीच-बीच में लोगों के साथ बैठकर उनकी समस्या सुने और उसे हर संभव दूर करने की कोशिश करें.

पूर्व प्रधान सरिता स्वर्गीय जवाहर लाल तिवारी के बेटे लोकपत तिवारी ने कहा की हमने अपने कार्यकाल में सड़क से लेकर शौचालय तक कई सारे काम किये. हम चाहेंगे की जो कुछ काम गांव में बाकी है. जैसे सड़क, नाली, शौचालय इन कामों को वे पूरा करें. ताकि गांव का विकास हो सके.

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Must Read

देवेंद्र फड़णवीस का बंगला वाशिंग मशीन का काम कर रही है – बाला साहेब थोरात

कांग्रेस नेता बाला साहेब थोरात ने रश्मि शुक्ला और मोहित कंबोज की देवेंद्र फडणवीस से मुलाकात पर कहा की देवेंद्र फडणवीस का...

दही हंडी को लेकर सरकार अपनी योजना बताए – सुनील प्रभु

शिवसेना विधायक सुनील प्रभु ने शिंदे सरकार को घेरने का प्रयास किया उंन्होने दही हंडी के आयोजन को लेकर सरकार की घोषणा...

पूरी दुनिया बीजेपी जितना चाहती है – नाना पटोले

कांग्रेस नेता और महाराष्ट्र प्रदेश अध्यक्ष नाना पटोले ने विधानसभा मानसून सत्र के दूसरे दिन बीजेपी पर निशाना साधते हुए कई एहम...

खड्ढे के कारण नेशनल पार्क ब्रिज पर एक्सीडेंट 2 की मौत

खड्ढे के कारण नेशनल पार्क ब्रिज पर एक्सीडेंट 2 की मौत वेस्टर्न एक्सप्रेस हाइवे नेशनल पार्क ब्रिज पर खड्ढे...

बचा पोश एक जटिल प्रथा जो सैकड़ो सालों से अफगानिस्तान में चली आ रही है

बचा पोश यह शब्द सुनकर आप को लग रहा होगा की यह क्या है ?बचापोश एक ऐसे जटिल प्रथा है जो सेकड़ो...