होम News मुंबई में मनाया गया अंतरराष्ट्रीय दिव्यांग दिवस, सीएम ने दिव्यांग मंत्रालय बनाने...

मुंबई में मनाया गया अंतरराष्ट्रीय दिव्यांग दिवस, सीएम ने दिव्यांग मंत्रालय बनाने की घोषणा की

मुंबई में मनाया गया अंतरराष्ट्रीय दिव्यांग दिवस, सीएम ने दिव्यांग मंत्रालय बनाने की घोषणा की

अंतरराष्ट्रीय दिव्यांग दिवस के मौके पर मुंबई के कांदिवली में नव दिव्यांग फाउंडेशन की तरफ से स्पोर्ट्स डे का आयोजन किया गया जिसमें सैकड़ों दिव्यांग बच्चों ने हिस्सा लिया। इस स्पोर्ट्स डे कार्यक्रम में एक दर्जन से ज्यादा खेलों में दिव्यांग बच्चों ने हिस्सा लिया। इस मौके पर मुख्यमंत्री वैद्यकीय कक्ष प्रमुख मंगेश चिवटे मौजूद रहे। वहीं महाराष्ट्र सरकार में महिला बाल विकास मंत्री मंगल प्रभात लोढ़ा ने अपने वीडियो संदेश में दिव्यांग बच्चों को हर संभव मदद देने का ऐलान किया है। बता दें कि महाराष्ट्र आज देश का ऐसा पहला राज्य बना है जिसने दिव्यांग मंत्रालय बनाने का फैसला किया है। मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे ने मुंबई में एक कार्यक्रम में दिव्यांग मंत्रालय बनाने का ऐलान किया।

मुंबई के कांदिवली में बाबासाहेब आंबेडकर उद्यान में नव दिव्यांग फाउंडेशन द्वारा आयोजित किए गए इस कार्यक्रम में सैकड़ों की संख्या में दिव्यांग बच्चों ने हिस्सा लिया। इस मौके पर दिव्यांग बच्चे भी जोश में दिखे और सभी खेलो में हिस्सा लिया। ज्यादातर दिव्यांग बच्चों में ऑटिज्म से पीड़ित बच्चे दिखाई दिए जबकि कुछ बच्चों ने व्हील चेयर पर रहकर ही खेलों में हिस्सा लिया।

मुख्यमंत्री वैद्यकीय कक्ष के प्रमुख मंगेश चिवटे ने कहा कि महाराष्ट्र सरकार ने आज ही दिव्यांग मंत्रालय बनाने का ऐलान किया है जिससे दिव्यांग बच्चों की पढ़ाई लिखाई और इनकी जिंदगी को बेहतर बनाने के लिए कदम उठाए जाएंगे। मंगेश चिवटे ने कहा कि समाज को भी अब आगे आना चाहिए ताकि इस तरह के बच्चों को समाज में बराबर की हिस्सेदारी मिल सके। मंगेश चिवटे ने कार्यक्रम में मौजूद लोगों को भरोसा दिलाया कि महाराष्ट्र सरकार दिव्यांग बच्चों के साथ खड़ी रहेगी और उनको हर संभव मदद करेगी।

नव दिव्यांग फाउंडेशन के मुख्य ट्रस्टी संजय मूथा का कहना है कि दिव्यांग बच्चों के मामले हाल फिलहाल में काफी बढ़े हैं। जिसके चलते ना तो इन बच्चों को नॉर्मल स्कूलों में दाखिला मिल पाता है और ना ही समाज में इस तरह के बच्चों को कोई खास पहचान मिल जाती है। मूथा का कहना है कि हम नव दिव्यांग फाउंडेशन के जरिए इस तरह के बच्चों को ना केवल रोजमर्रा की जरूरतों के बारे में सिखा रहे हैं बल्कि उनको उनके पैरों पर खड़े होने में भी मदद की जा रही है। हमारी महाराष्ट्र सरकार से गुजारिश है कि इस तरह के बच्चों की देखभाल के लिए जरूरी कदम उठाने चाहिए। इस मौके पर फाउंडेशन के ट्रस्टी गोपाल भागवत, सागर कांबले, अक्षरा और नीलिमा मूथा भी मौजूद रहे।

हर साल 3 दिसंबर को पूरे विश्व में विकलांग दिवस मनाया जाता है। कुछ दिनों पहले ही महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे ने दिव्यांग बच्चों की समस्याओं को देखते हुए महाराष्ट्र में दिव्यांग मंत्रालय बनाने का ऐलान किया था, जिससे दिव्यांग बच्चों के हक को ज्यादा मजबूती से लड़ा जा सके। मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे ने शनिवार को ऐलान करते हुए महाराष्ट्र में दिव्यांग मंत्रालय की घोषणा की और कहा कि महाराष्ट्र सरकार हर दिव्यांग को उसकी जरूरत का हक दिलाएगी।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Must Read

90 दिन तक नही रुकना पड़ेगा अब पेमेंट के लिए , फ़िल्म इंडस्ट्री को लेकर बनेगा नियम

फ़िल्म इंडस्ट्री से जुड़े कामगारों को मिलेगी अब एक बड़ी राहत ... अब उन्हें अपनी...

Crime : मुंबई में महिला ने किया आत्महत्या,पुलिस ने किया मामला दर्ज

मुंबई में महिला ने किया आत्महत्या,पुलिस ने किया मामला दर्ज मुंबई के अंधेरी इलाके में...

” धन्यवाद मोदी जी ” इस अभियान से जुड़ रहे है बड़ी संख्या में मुस्लिम – हाजी अरफ़ात शैख़

" धन्यवाद मोदी जी " इस अभियान से जुड़ रहे है बड़ी संख्या में मुस्लिम - हाजी अरफ़ात...

गुणवत्तापूर्ण सड़कों के माध्यम से राज्य की अलग पहचान बनाएंगे- सीएम एकनाथ शिंदे

गुणवत्तापूर्ण सड़कों के माध्यम से राज्य की अलग पहचान बनाएंगे- सीएम एकनाथ शिंदे मुंबई :...